Top Menu

Custom Search

Sunday, September 18, 2011

जिंदगी थी जहाँ, है वही आज भी .......

जिंदगी थी जहाँ, है वही आज भी.    
ढूंड ले हम कहाँ, फिर आपकी सादगी? 
हर घडी आप हो, याद है हर कही. 

जिंदगी अब नहीं मिल रही आजसे, 
कल ही में खो गयी उस रात के बाद से.
हम अभी है वहां आप छोड़ निकल गए.
सांस भी है वही आप जो दे गए. 

है अभी इंतजार, फिर उसी शाम का,
आपके प्यार का, और नयी बहार का.


आप आ-ओ लौट के, हम अभी है वही,
आप आ-ओ लौट के, हम अभी है वही.
                                        - प्र. बा.

No comments: